हर राशि का होता है अपना खास स्वभाव:

ज्योतिष शास्त्र और वैदिक ज्योतिष के मुताबिक प्रत्येक राशि के व्यक्ति का स्वभाव अलग होता है, क्योंकि हर राशि का किसी न किसी ग्रह से संबंध होता है और इन्हीं ग्रहों का प्रभाव उसके व्यक्तित्व पर पड़ता है। ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक बारह नक्षत्रों से मिलकर और बारह खंडों मेष, वृष, मिथुन, कर्क, सिंह, कन्या, तुला, वृश्चिक, धनु, मकर, कुंभ और मीन में विभाजित होकर 12 राशियां बनती हैं। हर राशि का अपना प्रतीक चिन्ह, खूबी, कमजोरियां, विशिष्ट लक्षण और दृष्टिकोण आदि होता है। वैदिक ज्योतिष और हिंदू मान्यताओं के मुताबिक प्रत्येक व्यक्ति के जीवन और उसके व्यक्तित्व पर उसकी राशि का सबसे महत्वपूर्ण प्रभाव है। वहीं प्रत्येक राशि में एक विशेष तत्व की प्रधानता पाई जाती है जिसके आधार पर राशियों को चार वर्गों में बांटा गया है। इनमें जल, अग्नि, पृथ्वी और वायु तत्व प्रधान चिह्न शामिल हैं। कर्क, वृश्चिक और मीन, जैसा कि इनके नाम से पता चलता है, इन राशियों को जल तत्व प्रधान माना जाता है। मेष, सिंह और धनु को अग्नि तत्व माना जाता है, मिथुन, तुला और कुंभ राशि को वायु प्रधान माना जाता है, जबकि वृषभ, कन्या और मकर राशि को पृथ्वी तत्व प्रधान माना जाता है। राशियों को भी लिंग के आधार पर विभाजित किया जाता है। मेष, मिथुन, सिंह, तुला, धनु, कुंभ राशि को पुरुष राशियां माना जाता है, जबकि वृष, कर्क, कन्या, वृश्चिक, मकर और मीन को स्त्री माना जाता है।

Zodiac Sign Personality (राशि व्यक्तित्व)

  1. मेष
    मेष राशि के लोग आम तौर पर बहुत चतुर स्वभाव के होते हैं। इनकी खासियत यह है कि ये बहुत जोशीले और जिद्दी स्वभाव वाले तथा अपमान बर्दाश्त नहीं करने वाले होते हैं। किसी बात को तब तक नहीं स्वीकार करते हैं, जब तक इनका खुद का नुकसान नहीं हो रहा हो। अक्सर अपने गुप्त भेदों के खुल जाने से भयभीत रहते हैं। इनकी एक खास बात यह है कि इस राशि के लोग एक बार किसी के हो जाते हैं, तो उसे अपना सब कुछ दे बैठते हैं। अपने इस व्यवहार के कारण उन्हें अक्सर नुकसान भी उठाना पड़ता है।
  2. वृषभ
    वृष राशि के व्यक्ति स्वभाव से शांति पसंद होते हैं। ये अपने काम में काफी लगन वाले होते हैं। किसी काम में जुट जाते हैं तो उसे तब तक नहीं छोड़ते हैं, जब तक उसका समाधान नहीं मिल जाता है। वृष राशि के जातकों को ज्योतिष शास्त्र से जुड़ी पुस्तकें पढ़ना, खेल-कूद, नृत्य, गायन, सत्संगति, अच्छी चीजों को संगृहीत करना, कथा-कीर्तन आदि जैसी चीज़ों में से किसी एक बात में काफी दिलचस्पी रहती है। इस राशि के लोग संगीत के गुणों से संपन्न होते हैं। अपनी वाणी से एक समय पर सैकड़ों लोगों को प्रभावित और आकर्षित कर लेने की क्षमता रखते हैं। इस राशि के पुरुषों को खेल और महिलाओं को वस्त्रों से काफी लगाव होता है।
  3. मिथुन
    मिथुन राशि के लोग अस्थिर स्वभाव के लेकिन आकर्षक व्यक्तित्व एवं चरित्र के होते हैं। उन्हें हर दिन नए परिवर्तन, भ्रमण और विविधता प्रिय होती है। ये बेहद हाजिर जवाब और फ़ुर्तीले होते हैं। इन लोगों की जिज्ञासु प्रवृत्ति और चतुराई इनको सामाजिक समारोहों और किसी भी पार्टी में आकर्षण का केन्द्र बना देती हैं। ये लोग न केवल अच्छे वक्ता होते हैं बल्कि अच्छे श्रोता भी होते हैं। मिथुन राशि वालों को घूमना-फिरना, गायन, सिलाई करना, सिनेमा देखना, किताबें पढ़ना आदि जैसी कलात्मक चीज़ों का शौक रहता है। ये एक समय में बहुत कुछ जानने की इच्छा रखते हैं। इस राशि के जातक लोगों का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित करना चाहते हैं, लेकिन वैसा होते ही इनकी रुचि उस व्यक्ति या वस्तु से समाप्त हो जाती है।
  4. कर्क
    कर्क राशि के लोग बहुत भावुक होते हैं और दूसरों के जीवन से बहुत मतलब रखते हैं। इस राशि के लोगों को अपने जन्म स्थान से काफी लगाव होता है। चंद्रमा की वजह से इन्हें स्थान परिवर्तन करते रहना पड़ता है। स्वभाव में दृढ़ता होती है, साथ में दुर्बलता भी रहती है। इनकी मनःस्थिति परिवर्तनशील होती है। कर्क राशि वाले जातक अपनी शर्तों पर चलते हुए सज्जनता और विनम्रता का प्रदर्शन करते हैं। कर्क राशि वाले व्यक्ति अपने अनुसार निर्माण कराने के लिए पुराने विचारों और मान्यताओं का त्याग कर सकते हैं। इनके स्वभाव में विरोधाभास दिखता है। यदि इनका कोई साथी या फिर मित्र इनके अनुसार नहीं चलता तो ये उसकी उपेक्षा भी कर सकते हैं। इस राशि के जातकों को मान-सम्मान और आदर की चाह रहती है। कर्क राशि के लोगों को मूर्ख बनाना आसान नहीं होता है। ये लोग व्यक्ति, वस्तु और परिस्थितियों से बंध जाया करते हैं।
  5. सिंह
    इस राशि के लोगों का व्यक्तित्व बहुत ही आकर्षक होता है और ये खुद भी अपने व्यक्तित्व को अधिक आकर्षक बनाना चाहते हैं। सिंह राशि के लोगों को जीवन से प्रेम होता है। इनकी आवश्यकताएं सामान्य से कहीं अधिक होती है, साथ ही ये लोग अधिक खर्चीले भी होते हैं। इनके हाथों में पैसा बिलकुल नहीं टिकता है। हालांकि ये पैसे के लिए लगातार संघर्ष करते रहते हैं और पैसे पा भी जाते हैं, लेकिन अपने खर्चीले स्वभाव के चलते उसे बचा नहीं पाते हैं। यह इनके स्वभाव का बड़ा अवगुण है। कई बार इनका पैसों के लेनदेन को लेकर मित्रों और सगे-संबंधियों से विवाद भी हो जाता है। इनका स्वभाव महत्वाकांक्षी वाला होता है। हालांकि ये बड़े साफ दिल और लगनशील व्यक्तित्व वाले होते हैं। साथ ही ये अपने जीवन को पूरी शान के साथ जीने में विश्वास रखते हैं। लक्ष्य-प्राप्ति के लिए आत्म बलिदान, स्वतंत्रता और मौलिकता रखने की इच्छा इस राशि का प्रमुख गुण है।
  6. कन्या
    कन्या राशि वाले जातकों का स्वभाव कुछ-कुछ सरल और कुछ-कुछ कठोर होता है। ऐसे जातकों को प्रकृति से लगाव होता है, इसीलिए इन्हें बागवानी करना और खूबसूरत पौधों की देखभाल करना बेहद पसंद होता है। ये लोग अपने उतावलेपन और जल्दबाज़ी के कारण अकसर मुसीबत में फंस जाते हैं। इनके स्वभाव की सबसे बड़ी कमी यह होती है कि ये बेहद स्वार्थी होते हैं और दूसरों की सलाह को महत्व नहीं देते जिसकी वजह से इन्हें संकट का सामना करना पड़ता है। अक्सर ये दूसरों का मजाक उड़ाने में आनंद लेते हैं, जिसकी वजह से आए दिन इनके संबंध खराब हो जाते हैं। यदि इस राशि का जातक व्यवसाय करना चाहता है तो उसे दूसरों के साथ सहभागी होकर ही व्यवसाय की शुरुआत करनी चाहिए।

उपरोक्त राशियों से अलग अगर आपकी राशि है और आके मन में कोई प्रश्न है तो या तो 7042717217 पर कॉल करें अन्यथा फॉर्म भरकर हमें भेजें। हमारे सहयोगी आपको कॉल करेंगे।

परामर्श शुल्क (Home Visit for Astro Consultation + Remedy Suggestion): 5100 + 18% GST = Rs 6018/-

Book Your Consultation 


Pt. Sumitt Sharma




“जैसे आपका घर आपके बिज़नेस और जॉब दोनों को प्रभावित करता है, ऐसे ही आपके सिग्नेचर और आपकी हैंड राइटिंग भी आपके व्यक्तित्व के बारे में काफी कुछ बताती है।”



Our Services



Vastu


Numerology


Astrology


Mail Us









    Your Name (required)

    Your Email (required)

    Your Phone Numer (required)

    *

    Your Message